विराट कोहली के फेवरेट जो कि बन गए हैं टीम इंडिया के नए हेड कोच

0
Indian-Cricket-Team
Indian-Cricket-Team

कपिल देव की अगुवाई वाली CAC कमेटी ने शुक्रवार को इंडिया के नए कोच के रूप में रवि शास्त्री को पुनः नियुक्त किया। आपको बता दें इंडिया के नए कोच के पद के लिए बहुत सारे इंटरनेशनल प्लेयर और इंडियन प्लेयर ने अप्लाई किया था इनमें से माइक हसन, टॉम मूडी, रवि शास्त्री के नाम प्रमुख थे। CAC कमेटी ने विराट कोहली के फेवरेट माने जाने वाले रवि शास्त्री को इंडिया टीम का हेड कोच अपॉइंट किया। इसकी घोषणा उन्होंने मुंबई में शुक्रवार की।

कपिल देव, शांता रंगास्वामी और अंशुमान गायकवाड़ के अनुसार ( सीएसी के सदस्य ) पांच पैरामीटर थे जिन पर उम्मीदवारों का चयन प्रक्रिया के दौरान किया गया था।
कोचिंग कौशल, कोचिंग का अनुभव, कोचिंग में उपलब्धियां, संचार और आधुनिक कोचिंग टूल का ज्ञान।

कपिल देव ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि उम्मीदवारों का चयन अंक प्रणाली के हिसाब से किया गया इस अंक प्रणाली में सभी उम्मीदवारों को 100 में से स्कोर्स दिए गए। रवि शास्त्री इंडिया के हेड कोच के रूप में सेलेक्ट किए गए। रवि शास्त्री की अगुवाई वाली टीम इंडिया (मेन इन ब्लू) ने 21 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उनको 7 में हार का सामना करते हुए 11 में जीत दर्ज हुई है। शास्त्री जी की अगुवाई वाली टीम का टेस्ट मैचों में जीत प्रतिशत 52.38 रहा है और यह देखना दिलचस्प होगा कि उनकी अगुवाई वाली टीम का इंडिया आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में कैसा प्रदर्शन रहता है।

वनडे में, शास्त्री के मार्गदर्शन में मेन इन ब्लू ने शानदार प्रदर्शन किया है। भारत में कुल 61 वनडे मैच खेले गए जिनमें से 44 में शानदार जीत दर्ज करते हुए 14 मैच हारे। शास्त्री के नेतृत्व में वनडे में जीत का प्रतिशत टीम इंडिया के लिए 72.13 रहा।

T20 में, टीम इंडिया ने मुख्य कोच के रूप में शास्त्री के कार्यकाल में काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। 36 मैचों में, मेन इन ब्लू ने सिर्फ 10 मैच में हारते हुए 25 मैच जीते हैं। खेल के सबसे छोटे प्रारूप में जीत का प्रतिशत शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया के लिए 69.44 रहा।

सीएसी सदस्य अंशुमान गायकवाड़ ने स्पष्ट किया कि चयन प्रक्रिया रवि शास्त्री के पक्ष में हुई क्योंकि वर्तमान टीम के साथ काम करना और टीम के भीतर की समस्याओं को जानना शास्त्री के लिए सकारात्मक काम था।

एक मौजूदा कोच होने के नाते, टीम में प्‍लेयर और उनकी समस्याओं को जानते हुए, अन्‍य प्रक्रियाओं से अच्छी तरह से वाकिफ हैं। जो व्यक्ति प्रक्रिया को जानता है और खिलाड़ियों को बहुत अच्छी तरह से समझता है, उसको इसका फायदा मिलता है।

रवि शास्त्री को वर्तमान कॉन्ट्रैक्ट के साथ 2 साल का एक्सटेंशन मिला है जिससे वह 2021 तक टीम इंडिया के हेड कोच बने रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here