अनुच्‍छेद 370 पर SC की सुनवाई टली, CJI ने याचिकर्ता को लगाई फटकार

0
Supreme Court
Supreme Court

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में धारा 370 को लेकर सुनवाई हुई। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने इस दौरान याचिकाकर्ता एमएल शर्मा को फटकार लगाई और दोबारा याचिका दायर करने को कहा। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई टाल दी। यदि याचिकाकर्ता सुधार कर फिर से याचिका दायर करते हैं तो इस प्रकार का परीक्षण अब अगले सप्ताह हो सकता है। आपको बता दें कि अनुच्‍छेद 370 पर कुल 7 याचिकाएं दायर की गई थीं। इसमें से 4 याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में काम करने वालों को मिलीं।

Supreme Court
Supreme Court

तो वहीं एमएल शर्मा की याचिका में अनुच्छेद 370 हटाए जाने का विरोध किया गया। याचिका में कहा गया है कि सरकार ने आर्टिकल 370 हटाकर मनमानी की है, उसने संसदीय रास्ते को नहीं अपनाया, राष्ट्रपति का आदेश अनिश्चिततापूर्ण है। एमल शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए सीजीआई ने फटकार लगाते हुए कहा कि ये किस तरह की याचिका है मुझे समझ नहीं आ रहा है। उन्होंने पूछा कि याचिकाकर्ता कैसी राहत चाहते हैं।

एमएल शर्मा की याचिका पर CJI ने कहा कि आपने डिफेक्‍ट बुधवार को सही किया है। CJI ने पूछा कि अभी तक इस तरह की याचिकाएं जो जम्मू-कश्मीर को लेकर दाखिल की गई हैं। इस पर जवाब दिया गया कि 6 याचिकाएं दाखिल हुई हैं। लेकिन 4 याचिकाएं अभी भी डिफेक्‍ट में है। बाकी बची 2 याचिकाओं में डिफेक्ट दुरुस्‍त नहीं हुआ है। इस जवाब पर CJI ने नाराजगी भरी अंदाज में कहा कि इस इतने गंभीर मामले में भी लोग बिना सोचे समझे डिफेक्टिव पेटिंग कर रहे हैं। CJI ने कहा कि हमने सुबह पेपर में पढ़ा है कि लैंडलाइन सेवा शुरू हो गई है।

सीजीआई ने एमएल शर्मा से पूछा कि आपकी याचिका क्या है? डिटेल देने पर शेफ जस्टिस बोले कि आपकी याचिका तकनीकी ग्राउंड पर खारिज हो जाएगी। इस तरह के मामले में आप ऐसी याचिका क्यों दाखिल करते हैं। इस मामले में 7 याचिका दाखिल हुई है। वह प्रभाव में है। अगर आपकी याचिका खारिज होती है तो दूसरी याचिकाओं पर प्रभाव पड़ेगा। सीजीआई ने कहा कि आप याचिका को वापस लें और संशोधित याचिका दाखिल करें।

तो वहीं एक और याचिका कश्मीर टाइम्स की संपादक अनुराधा भसीन ने दायर की थी। इस याचिका में कहा गया है कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद पत्रकारों पर लगाए गए नियंत्रण खत्म किए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here