Home News भारत को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, जाने इस फाइटर जेट की...

भारत को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, जाने इस फाइटर जेट की खासियत

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस में सस्त्र पूजा के बाद भारतीय वायु सेना के लिए डसॉल्ट एविएशन से पहला राफेल फाइटर जेट्स प्राप्त किया।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस में सस्त्र पूजा के बाद भारतीय वायु सेना के लिए डसॉल्ट एविएशन से पहला राफेल फाइटर जेट्स प्राप्त किया। आज फ्रांस ने राफेल हैंडओवर समारोह के बाद भारत को पहला राफेल बिमान सौपा। 36 राफेल फाइटर जेट्स में से पहला राफेल बिमान की “डिलीवरी” ली गई। चार राफेल जेट विमानों का पहला बैच मई 2020 तक भारत को सौपा जायेगा।

राफेल के बाद ये अति अत्याधुनिक फाइटर जेट आएगा भारत

हैंडओवर समारोह में, राजनाथ सिंह ने इसे भारतीय सुरक्षा बलों के लिए एक ऐतिहासिक दिन कहा, और इंडो-फ्रेंच द्विपक्षीय संबंधों को बहुत मजबूती मिलेगी। उन्होंने फ्रेंच डसॉल्ट एविएशन को राफेल की समय पर डिलीवरी देने के लिए बधाई दी और कहा की मुझे बहुत खुशी है कि राफेल की डिलीवरी तय समय पर हो गई। ये जेट हमारी सेना की ताकत को बढ़ाएगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पहले पेरिस में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन के साथ व्यापक वार्ता की। उनहो ने कहा कि उनकी यात्रा का उद्देश्य भारत और फ्रांस के बीच “रणनीतिक साझेदारी का विस्तार करना” था।

ISRO अब लॉन्च करेगा कार्टोसैट-3 सेटेलाइट, जाने क्यों है खास ये भारत के लिए

सिंह ने पहले राफेल निर्माता डसॉल्ट एविएशन के प्लांट का दौरा किया,उसके बाद पारंपरिक भारतीय शास्त्र पूजा (हथियारों की पूजा) की जो की दशहरा समारोह का हिस्सा है। उसके बाद रिबन काटने की रस्म की गई। ये फाइटर जेट तब भारत आ रहा जब इस साल वायु सेना IAF 87 वीं वर्षगांठ मना रहा है।

भारत ने सितंबर 2016 में 59,000 करोड़ रुपये के सौदे में फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू जेट का ऑर्डर दिया था।

सितंबर 2022 तक सभी 36 जेट विमानों के भारत में आने की संभावना है, जिसके लिए भारतीय वायुसेना ने कथित रूप से तैयारी की है, जिसमें आवश्यक बुनियादी ढांचे और पायलटों के प्रशिक्षण को तैयार करना शामिल है।

राफेल एक ट्विन-जेट लड़ाकू विमान है जो एक एयरक्राफ्ट कॅरिअर और एक एयर बेस दोनों से संचालित करने में सक्षम है। निर्माताओं ने इसे पूरी तरह से बहुमुखी विमान के रूप में बताया है जो की हवाई श्रेष्ठता और वायु रक्षा, नजदीकी हवाई समर्थन, गहराई से हमले, जहाज-रोधी हमले और परमाणु हमले करने के लिए है।

इस जेट के भारत आने के बाद भारतीय वायुसेना बहुत ही मजबूत और अजय हो गई।

इसरो ने चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर द्वारा खींची गई चंद्रमा की पहले हाई रिज़ॉल्यूशन इमेजेज साझा की

Pratima Patel
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम संदीप सिंह है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर + कंटेंट राइटर + वेबसाइट डिजाइनर हूँ। ब्लॉग्गिंग मेरा फुल टाइम वर्क है, यदि आपको किसी तरह की कोई हेल्प चाहिए हो तो मुझे मेरी मेल Id- iamtechindia786@gmail.com पे संपर्क कर सकते हैं और मुझसे जितना हो सकेगा पूरी हेल्प करूँगा।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट भारत के रीवा शहर में, जानें इसकी खास बातें

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में भारत के सबसे बड़े सोलर प्‍लांट का उद्घाटन किया है जो...

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) कैसे बनवाएं?

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) भारत सरकार की एक खास योजना है, जिसका उद्देश्य किसानों को असंगठित क्षेत्र में आमतौर पर मनी लेंडर्स द्वारा लगाए...

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना के बारे में पूरी जानकारी

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार 14 मई 2020 को मार्च 2021 तक सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों...

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): 20 लाख करोड़ का पैकेज किस तरह से बटेगा जानिए यहां

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के लिए अपने पांचवें संबोधन में 'आत्‍मनिर्भर भारत अभियान' (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) के...

Recent Comments