Home News Coronavirus vs IndianCoronaFighters: कोरोना वायरस की इस लड़ाई में प्रधानमंत्री मोदी का...

Contents

Coronavirus vs IndianCoronaFighters: कोरोना वायरस की इस लड़ाई में प्रधानमंत्री मोदी का दे साथ

प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्वा में भारत सरकार ने कोरोना वायरस (कोणवीरस) को भारत में फैलने को रोकने के लिए युद्धस्तर पर काम किया है। इसके प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीयों से की ये अपील।

Coronavirus vs IndianCoronaFighters: प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्वा में भारत सरकार ने कोरोना वायरस (coronavirus) को भारत में फैलने को रोकने के लिए युद्धस्तर पर काम किया है। भारत सरकार ने ना केबल भारत में रह रहे भारतीयों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए जरुरी ब्यवस्ता की है, बल्कि देश से बाहर रह रहे भारतीयों को एयरलिफ्ट यानी को उन्हें वहा से निकाल कर भारत लाये।

क्यों है कम कोरोना वायरस (coronavirus) के केसेस भारत में

भारत की जनसँख्या लगभग 130 करोड़ के आसपास है और अन्य देशो के मुकाबले कम मेडिकल टेक्नोलॉजी के बाद भी भारत में कोरोना वायरस (coronavirus) के केसेस अन्य देशो के तुलना में कम है। पर इसका मतलब कतई नहीं है की इसके केसेस बढ़ेंगे नहीं। कोरोना वायरस के लक्षण काफी दिनों बाद पता चलते है इसके वजह से कुछ लोग जो कोरोना वायरस के शिकार है पर उनको पता भी नहीं है की इस वायरस के शिकार है इस वजह से भी कोरोना वायरस के केसेस भारत में कम काउंट में है। इसीलिए प्रधानमंत्री मोदी ने लोगो से जनता कर्फूय की अपील करते हुए जरुरी जानकारी दी है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचने के उपाय, इन बातों का रखें खास ध्यान

प्रधानमंत्री मोदी का सन्देश सभी भारतीयों के लिए

प्रधानमंत्री मोदी जी ने आज देश के लोगो से अपील की है की सभी भारतीय इस कोरोना वायरस (coronavirus)
वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए अपना सहयोग दे।

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की आप जरुरत से ज्यादा मेडिकल और रोजमर्रा की जरुरत के सामानो का संग्रह न करे ताकि देश में जरुरी सामने की कमी ना हो और देश में डर का माहौल न बने।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने सभी भारतीयों से अपील की आप जनता कर्फूय (Jantacurfew) का सपोर्ट करे। जनता कर्फूय से पीएम मोदी का मतलब ये है की सभी भारतीय 22 मार्च 2020 यानि रविवार को सभी भारतीय घर पर ही रहे और भाहर न निकले जबतक ये आप के लिए बहुत जरुरी न हो।
  • सभी भारतीय को कोरोना फाइटर का सपोर्ट करने के लिए 22 मार्च को अपने घर के दरवाजे या बालकनी से 5 बजे साम को 5 मिनट क्लैप (ताली बजाकर) कर के सपोर्ट करे। क्योंकी भारत के डॉकटर और सरकारी कर्मचारी 24/7 आप के लिए दिन रात काम कर रहे ताकि वो आप को इस वैश्विक महामारी से बचा सके।
  • एक दिन का जनता कर्फूय (jantacurfew) से मतलब 130 करोड़ मैनपावर से है। पीएम मोदी का इससे मतलब ये है की यदि देश की जनता रेस्पोंसिबल है तो हम इस बैश्विक महामारी को आसानी से हरा सकते है।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने सभी कंपनी और आर्गेनाइजेशन से अपील की है की आप किसी भी कर्मचारी का इस मेडिकल आपातकाल में वेतन न काटे।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने यी भी अपील की है की हो सकता है की आप को कोरोना वायरस हो किन्तु आप को अपनी प्रतिरोधक छमता की वजह से इसका पता ना लग रहा हो। इसका मतलब ये कतई नहीं है की आप सड़को या बाजार में घूमे। क्योकि हो सकता है की आप को इस वायरस का कोई असर न हो रहा हो, पर हो सकता है की आप की इस लापरवाही की वजह से आप के प्रियजन या आप के पड़ोसी को जिनकी प्रतिरोधक छमता आप से कम है इस वायरस के संपर्क में आ जाए। मै आप से अपील करता हु की आप अपने घर में ही रहे जबतक बहुत जरुरी हो।
  • सभी भारतीय रेगुलर हेल्थ चेकउप से बचे जब तक की ये आप के लिए बहुत जरुरी न हो।
  • आप अपने घर में ही अपने आप को आइसोलेट कर ले ताकि आप अपने प्रियजनों को इस खतरनाख महामारी से बजा सके।

Address to nation. #IndiaFightsCorona

Address to nation. #IndiaFightsCorona

Narendra Modi यांनी वर पोस्ट केले गुरुवार, १९ मार्च, २०२०

Coronavirus: कोरोना वायरस की दवा, लक्षण, इलाज और कारण

यहाँ से हुयी कोरोना वायरस (coronavirus) के शुरुआत

आप को बता दे की कोरोना वायरस (coronavirus) की शुरुआत चीन के वुहान सहर से हुयी है। कुछ देश चीन को इस वायरस के बनाने के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे है। कहा ये भी जा रहा है की चीन ने ये वायरस बायोलॉजिकल हथियार की तहर बनाया है। जबकि की चीन का मानना है की यह वुहान सहर से जीब जंतुओं के क्रॉसवीड से पैदा हुवा है।

भारत सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए उठाये ये कदम

कोरोना वायरस जब चीन में फैल रहा था तभी से भारत सरकार की कोरोना वायरस के डेवेलपमेन्ट में नजर रख रही थी । भारत सरकार ने चीन और जापान से आने वाले यात्रिओ की जांच तब से ही सुरु कर दी थी। भारतीय नागरिको को इस वायरस से बचाने के लिए क्वारंटाइन प्लेस बनाये। जहा पर कोरोना के मरीजों को रखा जा सके जिससे के यह वायरस देश के लोगो में न फैले।

भारतीय नागरिक जो भारत से बहार रह रहे थे उन्हें एयरलिफ्ट कर के भारत वापस ले कर आये। हालाँकि की जब उन्हें भारत लाया गया तो उन यात्रियों को क्वारंटाइन प्लेस में रख कर जांच की गई। 15 दिनों की जांचपड़ताल के बाद जिन यात्रिओ के कोरोना पॉजिटिव पाया गया उन्हें वही रोक कर इलाज जारी कर दिया गया। बाकि यात्रियों को सलाह देकर छोड़ दिया गया।

भारत में इस वायरस के फैलने को रोकने के लिए कुछ जरुरी कदम जैसे कोरोना से प्रबावित देशो में रहने वाले लोगो के लिए ट्रेवल एडवाइजरी जारी की और ट्रेवल वीजा को कुछ समय के लिए सस्पेंड कर दिया गया। ग्रुप में लोग इकट्ठा न हो इसके लिए स्कूल कॉलेज मॉल्स इत्यादि को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा प्राइवेट कंपनियों को एडवाइजरी जारी किया की सारे एम्प्लोयी को वर्क फ्रॉम होम दिया जाये।

Coronavirus: COVID-19 के चलते कर्नाटक सरकार ने लिया बड़ा फैसला, इतनी चीजे रहेगी बंद

इन देशो से सभी भारतीयों को एयरलिफ्ट किया गया

विदेश जिससे भारतीयों को एयरलिफ्ट किया गया। वो है चीन, जापान, ईरान, सऊदी, इटली इत्यादि। इन देशो से सभी भारतीय के बिना किसी धर्म के भेदभाव से देश में वापस लाया गया। इस कार्य में एयर इंडिया और इंडियन एयर फ़ोर्स के बमानो ने अपना विशेष योगदान दिया।

भारत ने विदेशी नागरिको को भी किया एयर लिफ्ट

भारत ने न केबल भारतीयों की एयरलिफ्ट किया बल्कि बड़ा दिल दिखाते हुए कई पडोसी देश के नागरिको को भी एयरलिफ्ट किया। इसमें पाकिस्तान भी शामिल था पर पकिस्तान ने अपने नागरिको को लाने से मन कर दिया था।

कोरोना वायरस पर मिलने वाले स्‍वास्‍थ्‍य बीमा कवर के बारे में जानिए यहां पर

कोरोना वायरस से निपटने के लिए इन देशो को भेजी जरुरी दवाई और जरुरत के सामान

भारत ने चीन को कई हजार टन मेडिकल इक्विपमेंट भेजे है।

कोरोना वायरस की जानकारी इन माध्यमों से देशवासियो को दी जा रही है

भारत में कोरोना की जानकारी मुहैया कराने के लिए मिडिया प्रिंट मीडिया ब्राडकास्टिंग और सोशल मीडिया के जरिये जरूखता अभियान भी चलाया गया।

भारतीय होने पर होगा आप को गर्व

हम इंडियन हमेसा ही सरकारी व्यवस्ता पर सवाल उठाते है और कहते है की इस देश का कुछ नहीं हो सकता है। हमेसा सरकारी कर्मचारी और सरकारी सुविधओं को प्राइवेट के मुकाबले आंकते है। लेकिन आज इस वैश्विक महामारी के दौर में वही सरकारी कर्चारी दिन रात लोगो की सेवा में लगा हुवा है। चाहे फिर वह एयरलिफ्ट स्टाफ हो , या फिर एयरपोर्ट और क्वारंटाइन प्लेसेस में मेडिकल टीम या फिर कोई भी इंडियन हो।

आज हमें अपना नजरिया जरूर बदलना चाहिए। पैसा कमाने के लिए तो वैसे देश में बड़े बड़े हॉस्पिटल है पर मैक्सिमम आइसोलेशन वार्ड और क्वारंटाइन प्लेस गवर्नमेंट ने बनाये है।

अंत में यही कहना चाहुगा की आप इस जनता कर्फूय (jantacurfew) में देश का सपोर्ट करे।

लेटेस्ट खबरे पढ़ने के लिए आप हमारे चैनल को फॉलो, लाइक और सब्सक्राइब करें

Facebook: 360 Samachar

Pratima Patel
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम संदीप सिंह है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर + कंटेंट राइटर + वेबसाइट डिजाइनर हूँ। ब्लॉग्गिंग मेरा फुल टाइम वर्क है, यदि आपको किसी तरह की कोई हेल्प चाहिए हो तो मुझे मेरी मेल Id- iamtechindia786@gmail.com पे संपर्क कर सकते हैं और मुझसे जितना हो सकेगा पूरी हेल्प करूँगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट भारत के रीवा शहर में, जानें इसकी खास बातें

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में भारत के सबसे बड़े सोलर प्‍लांट का उद्घाटन किया है जो...

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) कैसे बनवाएं?

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) भारत सरकार की एक खास योजना है, जिसका उद्देश्य किसानों को असंगठित क्षेत्र में आमतौर पर मनी लेंडर्स द्वारा लगाए...

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना के बारे में पूरी जानकारी

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार 14 मई 2020 को मार्च 2021 तक सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों...

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): 20 लाख करोड़ का पैकेज किस तरह से बटेगा जानिए यहां

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के लिए अपने पांचवें संबोधन में 'आत्‍मनिर्भर भारत अभियान' (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) के...

Recent Comments