Home News Ayodhya Verdict 2019: अयोध्‍या केस के प्रमुख फैसले, जानिए यहां

Ayodhya Verdict 2019: अयोध्‍या केस के प्रमुख फैसले, जानिए यहां

70 सालों से चले आ रहे अयोध्या (Ayodhya) केस का फैसला आज (9 नवंबर 2019) को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा सुनाया गया। इस फैसले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस बोबड़े, जस्टिस वी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एस अब्‍दुल नजीर शाामिल रहे।

Ayodhya Verdict: 70 सालों से चले आ रहे अयोध्या (Ayodhya) केस का फैसला आज (9 नवंबर 2019) को सुप्रीम कोर्ट (supreme court) द्वारा सुनाया गया। इस फैसले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (Chief Justice of India Ranjan Gogoi), जस्टिस बोबड़े (Justice S A Bobde), जस्टिस वी वाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud), जस्टिस अशोक भूषण (Justice Ashok Bhushan), जस्टिस एस अब्‍दुल नजीर (Justice S Abdul Nazeer) शाामिल रहे।

ये हैं अयोध्‍या केस के प्रमुख फैसले

  • मुश्लिम पक्ष को 5 एकड़ जमीन देने का आदेश
  • विवादित जमीन रामलला पक्ष को दी गई
  • रामलला के पक्ष में फैसला सुनाया
  • विवादित जमीन का बटवारा नहीं किया जायेगा
  • सीता रसोई की पूजा अंग्रेजो के भारत आने से पहले से होती थी
  • मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाने की कोई पुख्‍ता जानकारी नहीं
  • निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज
  • सुप्रीम कोर्ट ने रामलला को कानूनी मान्यता दी
  • हिन्दू आस्था गलत होने के सबूत नहीं
  • 1949 में रखी गईं मूर्तियां
  • फैसले की कॉपी पर जजों ने किए हस्‍ताक्षर

जजों ने अपने फैसले में कहा कि बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी। बाबरी मस्जिद को हिन्दुओ के ढांचे के ऊपर बनाया गया था। आगे की अपडेट आपको इसी पेज पर लगातार मिलती रहेगी…

बड़ी खबर: अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण का रास्ता साफ़?

आप को बता दें की अयोध्या में पहले ही 10 दिसंबर तक के लिए धारा 144 लागू कर दी गई थी और धारा 144 अभी भी लागू है। सुरक्षा के मद्देनजर अयोध्या में अर्धसैनिक बलों के 4000 जवानों को तैनात किया गया है। सुरक्षा को बड़ी बारीकी से पल-पल नजर राखी जा रही है। अधिकारी ने बताया कि इस ऐतिहासिक फैसले के मद्देनजर सभी राज्यों को सभी संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात रखने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि देश में कहीं भी कोई अप्रिय घटना न हो सके।

अयोध्या में लगाई गयी धारा 144, जानिए क्या है वजह?

सूत्रों के अनुसार अयोध्या शहर की निगरानी और सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए ड्रोन की मदद ली जा रही है। ड्रोन के जरिया अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा राइ है। स्थानीय प्रशासन ने अयोध्या में कई शांति कमेटियां बनाई हैं। इन कमेटियों में शामिल लोग जिले के गांवों में जाकर लोगों से शांति और प्रेम बनाए रखने की अपील कर रहे हैं। इसके साथ ही जिलों में दर्जनों की संख्या में अस्थायी जेल परिसरों का निर्माण किया गया है। इस फैसले को देखते हुए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अलर्ट रहने को शुक्रवार को ही कह दिया था।

Ayodhya Verdict: अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट कल 10.30 AM सुनाएगा फैसला

Pratima Patel
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम संदीप सिंह है, मैं एक प्रोफेशनल ब्लॉगर + कंटेंट राइटर + वेबसाइट डिजाइनर हूँ। ब्लॉग्गिंग मेरा फुल टाइम वर्क है, यदि आपको किसी तरह की कोई हेल्प चाहिए हो तो मुझे मेरी मेल Id- iamtechindia786@gmail.com पे संपर्क कर सकते हैं और मुझसे जितना हो सकेगा पूरी हेल्प करूँगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट भारत के रीवा शहर में, जानें इसकी खास बातें

एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्‍लांट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में भारत के सबसे बड़े सोलर प्‍लांट का उद्घाटन किया है जो...

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) कैसे बनवाएं?

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) भारत सरकार की एक खास योजना है, जिसका उद्देश्य किसानों को असंगठित क्षेत्र में आमतौर पर मनी लेंडर्स द्वारा लगाए...

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना के बारे में पूरी जानकारी

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार 14 मई 2020 को मार्च 2021 तक सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों...

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): 20 लाख करोड़ का पैकेज किस तरह से बटेगा जानिए यहां

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के लिए अपने पांचवें संबोधन में 'आत्‍मनिर्भर भारत अभियान' (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) के...

Recent Comments