चंद्रयान-2 का लैंडिंग से पहले टूटा संपर्क, जानें क्‍या बोले PM मोदी

चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं कल रात को आपकी (वैज्ञानिकों की) मन की स्थिति को भांप रहा था। उन्होंने कहा कि आपकी आंखें बहुत कुछ बया करती हैं वैज्ञानिको के चेहरे की उदासी मैंने पढ़ ली थी।

0
chandrayan

कल देर रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बैंगलुरु स्थित इसरो के बेस स्टेशन में थे, जहां पर वो 70 बच्चोंं के साथ चंद्रयान 2 की लैंडिंग लाइव देख रहे थे। चंद्रयान 2 की चन्द्रमा की सतह से 2.1 KM पहले तक सभी परफॉरमेंस ठीक थी पर जैसे ही चंद्रयान 2 चन्द्रमा के सतह से 2 km की दूरी में पंहुचा उसका इसरो के बेस स्टेशन से कम्युनिकेशन टूट गया। पूरा देश इस ऐतिहासिक समय का बेसर्ब्री से इंतजार कर रहा था। जब लोगों को पता चला की चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम से इसरो का कम्युनिकेशन टूट गया। तो लोगो ने ट्विटर में इसरो के सपोर्ट में ट्वीट किये और सभी ने यही लिखा की पूरा भारत देश आज प्राउड फील कर रहा है। ये किसी उपलब्धि से कम नहीं है और हमें अपने इसरो के वैज्ञानिकों के ऊपर बहुत गर्व है।

PM Modi Shivan

चंद्रयान २ का सम्पर्क इसरो के बेस स्टेशन टूटने के बाद प्रधानमंत्री मोदी इसरो के चेयरमैन शिवान का हौसला बढ़ाते हुए बोले “होप फॉर द बेस्ट” पुरे भारत देश को आप पे बहुत गर्व है। PM मोदी इसरो के वैज्ञानिको से मिलने के बाद इसरो बेस स्टेशन में उपस्थित बच्चो से मिले और उनसे मिलने के बाद वह इसरो बेस स्टेशन से निकल जाते है। आपको बता दे की चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर अभी भी चन्द्रमा की कक्षा में चक्कर लगा रहा है और इसरो बेस स्टेशन को जानकारिया भेज रहा है। इसरो के चेयरमैन ने चंद्रयान 2 से सम्पर्क टूटने के तुरंत बात बोले की चंद्रयान 2 के लैंडर से सम्पर्क टूट गया है और हम डाटा का एनालिसिस कर रहे है।

जियो फाइबर के प्‍लान और उनकी कीमत

PM मोदी इसरो सेंटर से निकलने से पहले इसरो के चेयरमैन को गले लगाया और उनका साहस बढ़ाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरा देश आपके साथ रात भर जगता रहा है। मिशन के अंतिम पलों में पूरा देश चिंतित था। उन्होंने कहा कि पूरा देश मजबूती के साथ देश के वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है।

चंद्रयान 2 के लैंडर से संपर्क टूटने के बाद प्रधानमंत्री मोदी का देश के नाम ये सन्देश आप को जरूर सुनना और देखना चाहिए।

चंद्रयान-2 के बाद इसरो का गगनयान मिशन, भारतीय एस्ट्रोनॉट्स को रूस करेगा प्रशिक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here